बाल दिवस एवं स्वच्छता अभियान 2018

बाल दिवस के बारे में

बच्चों का दिन (बाल दिवस के नाम से भी जाना जाता है) भारत में हर साल 14 नवम्बर को लोगों को बच्चों के अधिकार, देखभाल और शिक्षा के बारे में जागरुकता बढ़ाने के लिये मनाया जाता है। बच्चे देश की सफलता और विकास की कुँजी है क्योंकि वो ही अपने देश का नये और तकनीकी ढंग से नेतृत्व करेंगे। वो अनमोल मोती की तरह ही चमकदार और अति आकर्षक होते हैं। बच्चे सर्वशक्तिमान द्वारा उनके माता-पिता के लिए भगवान का उपहार हैं। वो निर्दोष, सराहनीय, शुद्ध और हर किसी को प्यारे होते हैं।

इसी क्रम में विद्यालय में स्वच्छता अभियान द्वारा बल दिवस की शुरुआत करते हुए बाल दिवस के उपलक्ष्य में बाल मेला का आयोजन किया गया ।

national education day celebration 2018

नैशनल एजुकेशन डे 2018

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (CBSE) ने स्वतंत्रता सेनानी और देश के पहले शिक्षामंत्री मौलाना अबुल कलाम आजाद के शिक्षा के क्षेत्र में किए गए योगदान के लिए उनके जन्मदिन पर ‘नैशनल एजुकेशन डे’ मनाने का फैसला किया है।

‘नैशनल एजुकेशन डे’ का विषय ‘स्किल अवेयरनेस एंड इम्पावरमेंट’ रखा गया है। इस समारोह का मुख्य उद्देश्य स्टूडेंट्स को ऐसे प्रोजेक्ट के बारे में बताना है जिसके बारे में जानकर वे मौजूदा समय में बहुत कुछ सीख सकते हैं। इसमें सोशल ऐंड इमोशनल स्किल्स को भी शामिल किया गया है। 

एजुकेशन डे के सब-थीम में स्वच्छता और पर्यावरण से जुड़ी चीजों को शामिल किया गया है। इस मौके पर स्कूल सेमिनार, निबंध प्रियोगिता, वर्कशॉप का आयोजन करेंगे।

इसी क्रम में विद्यालय में राष्ट्रीय शिक्षा दिवस का आयोजन किया गया एवम विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया ।